भौमासुर

श्रीकृष्ण सर्व

भौमासुर भौमासुर हिन्दू मान्यताओं और पौराणिक महाकाव्य महाभारत के अनुसार एक प्रसिद्ध असुर था, जिसे पृथ्वी के गर्भ से उत्पन्न विष्णु पुत्र कहा जाता था। ये ‘नरकासुर’ के नाम से भी विख्यात था तथा इसका विवाह राजकुमारी माया से हुआ था। यह वराह अवतार के समय पैदा हुआ था, जब विष्णु ने पृथ्वी का उद्धार किया था। अत: यह पृथ्वी का पुत्र था। […]

More

कृष्ण का अंतिम समय

श्रीकृष्ण सर्व

कृष्ण का अंतिम समय प्रभास के यादव युद्ध में चार प्रमुख व्यक्तियों ने भाग नहीं लिया, जिससे वे बच गये, ये थे- कृष्ण, बलराम, दारुक सारथी और वभ्रु। बलराम दु:खी होकर समुद्र की ओर चले गये और वहाँ से फिर उनका पता नहीं चला। कृष्ण बड़े मर्माहत हुए। वे द्वारका गये और दारुक को अर्जुन के पास भेजा कि वह आकर स्त्री-बच्चों […]

More

राधा-कृष्ण का विवाह

श्रीकृष्ण सर्व

राधा-कृष्ण का विवाह राधा-कृष्ण, चित्रकार राजा रवि वर्मा राधा रानी के सम्बन्ध में ‘गर्ग संहिता’ में कथा आती है कि एक बार नंदबाबा बालक कृष्ण को लेकर अपनी गोद में खिला रहे थे। उस समय कृष्ण दो वर्ष सात माह के थे। उनके साथ दुलार करते हुए नंदबाबा वृंदावन के भांडीरवन में आ जाते हैं। इस बीच एक बड़ी ही अनोखी घटना घटती है। […]

More

भगवद्गीतेचे गीतेचे साठ अधिकरणें : धनंजय महाराज मोरे dhananjay maharaj more

धार्मिक पौराणिक व्यक्ती वेदांत श्रीकृष्ण सर्व

भगवद्गीतेचे गीतेचे साठ अधिकरणें १ ऐतिह्य कथन, २ दैन्य प्रदर्शन, ३ श्रीकृष्णास शरण, ४ आत्मप्रबोधन, ५ स्वधर्मपालन, ६ बुद्धियोग, ७ स्थितप्रज्ञता, ८ कर्मयोग, ९ नित्यकर्म, १० लोकसंग्रह, ११ शासनपालन, १२ शत्रुसंहार, १३ जन्मकर्म, १४ कर्म-अकर्म, १५ प्राज्ञमुखें ज्ञान, १६ सांख्ययोग, १७ सदामुक्तता, १८ योगारुढ होणें, १९ समाधि अभ्यास, २० शाश्वत योग, २१ एकसूत्रता, २२ शरणता, […]

More
%d bloggers like this: